Home हैल्थ और फिटनेसघरेलू उपचार शीघ्रपतन के लक्षण, कारण, आयुर्वेदिक घरेलू उपचार और परहेज | Premature ejaculation (Shighrapatan) in hindi

शीघ्रपतन के लक्षण, कारण, आयुर्वेदिक घरेलू उपचार और परहेज | Premature ejaculation (Shighrapatan) in hindi

by Foggfitness
0 comment

Table of Contents

Shighrapatan in Hindi: यह समस्या आजकल सबसे ज्यादा पुरुषों में बढ़ती ही जा रही है। इसके बढ़ने के कई कारण हैं जिससे लोगों का वैवाहिक जीवन खुशहाल नहीं बन पाता है। पति और पत्नी एक दूसरे से संतुष्ट नहीं हो पाते हैं। लगभग 50% या इससे ज्यादा पुरुष इस समस्या से ग्रसित हैं। सम्भोग करना मनुष्य जीवन को खुशहाल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देता है।

आजकल ज्यादातर लोग सेक्स या सम्भोग के कारण ही एक दूसरे के नजदीक आते हैं ताके वह शारीरिक मनोरंजन करते हुए जीवन यापन कर सकें। लेकिन कई बार पुरुष महिला को संतुष्ट नहीं कर पाते हैं जिसका कारण शीघ्रपतन होता है। जिससे महिला चरम सुख को प्राप्त नहीं कर पाती है और घर में मातम सा छाया रहता है। ऐसे लोग शीघ्रपतन का इलाज करवाने के लिए कई तरह के डॉक्टर से बातचीत करते हैं या फिर बाबाओं के पास जाने लगते हैं।

आपने अक्सर देखा होगा कि रेलवे स्टेशन, बसों में या गलियों में शीघ्रपतन (Premature ejaculation (Shighrapatan) in hindi) या गुप्त रोगों को रोकने के लिए पोस्टर चिपके होते हैं। जिससे कई लोगों को बेवकूफ बनाया जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि इस देश में सेक्स सम्बंधित जानकारी का आभाव है।

शीघ्रपतन या गुप्त रोग का इलाज करवाने के लिए आपको बाबाओं के पास जाने की आवश्यकता नहीं है। इसे ठीक करने के कई तरीके हैं। आप सेक्स सबंधित जानकारी रखने वाले डॉक्टर से इस बारे में बात कर सकते हैं। वह आपके कुछ टेस्ट करेंगे और उसके अनुसार आपको उचित दवाइयां या समाधान बताएँगे। इसके अलावा आप आयुर्वेदिक और घरेलू उपचारों के माधयम से भी इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

शीघ्रपतन क्या होता है – Shighrapatan in Hindi

जब कोई पुरुष और महिला सेक्स करते हैं तो चरम सुख पर पहुँचने से पहले ही पुरुष का वीर्य निकल जाता है जिसे शीघ्रपतन कहा जाता है। शीघ्रपतन पुरुषों में होने वाली एक प्रकार की यौन समस्या होती है। जिसका सेक्स लाइफ पर बहुत बूरा प्रभाव पड़ता है। इस बीमारी से पीड़ित पुरुषों में सेक्स की अवधि काफी छोटी होती है। अभी तक ऐसे कोई मापदंड नहीं निकाले गए हैं कि पुरुषों का वीर्य कितनी देर में स्खलित होना चाहिए। लेकिन फिर भी एक सवस्थ पुरुष का वीर्य 2 से 5 मिनट के अंदर स्खलित होना चाहिए। जबकि शीघ्रपतन से पीड़ित पुरुष 1 मिनट के अंदर ही वीर्य को स्खलित कर देते हैं।

शीघ्रपतन के लक्षण – Shighrapatan Symptoms in Hindi

शीघ्रपतन के कुछ लक्षण निम्नलिखित है:

  • चरम सुख पर पहुँचने से पहले ही पुरुष का वीर्य निकल जाना।
  • यौन प्रकतिया शुरू होने से पहले ही वीर्य का निकल जाना।
  • शीघ्रपतन उत्तेजना के कुछ सेकण्ड या मिनट के अंदर हो जाता है।
  • सम्भोग की शुरुआत करते ही वीर्य स्खलन हो जाना।
  • अश्लील वीडियो या पिक्चर देखते ही वीर्य का निकल जाना।

शीघ्रपतन के कारण – Shighrapatan (premature ejaculation) Reasons in Hindi

आजकल लोगों के लाइफस्टाइल को देखा जाए तो इतना ज्यादा तनाव जीवन में भरा हुआ है जिससे उनके दिमाग और शरीर पर बहुत बूरा प्रभाव पड़ता जा रहा है। जिसमे से एक समस्या शीघ्रपतन भी है। मानसिक और शारीरिक तनाव होने की वजह से सेक्स सम्बंधित समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं। सेक्स हार्मोन्स लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। शीघ्रपतन शारीरिक और मानसिक कमजोरी के कारण भी होता है।

अगर आप पहली बार सेक्स कर रहे हैं और वीर्य जल्दी निकल जाता है तो यह एक सामान्य सी बात है। लेकिन अगर आपको हर बार ऐसा ही हो रहा है तो यह एक चिंता की बात है। इसका अर्थ यह है कि आप शीघ्रपतन जैसी समस्या का शिकार बन चुके हैं। जिसका समय रहते इलाज करना अति आवश्यक है। कुछ लोग इतने ज्यादा उत्तेजित हो जाते हैं कि अपने ऊपर नियंत्रण नहीं कर पाते हैं। स्ट्रेस, डिप्रेशन, रिश्तों में तनाव या चिंता की वजह से भी आपको शीघ्रपतन की समस्या हो सकती है।

शीघ्रपतन दोष के अन्य कारण – Other causes of premature ejaculation in hindi

  • नशीले पदार्थों का ज्यादा सेवन करना।
  • ज्यादा शराब का सेवन करना।
  • धूम्रपान करना।
  • जंक फ़ूड और फ़ास्ट फ़ूड जैसे बर्गर, पिज़्ज़ा, कोल्ड्रिंक्स इत्यादि का ज्यादा सेवन करना।
  • ज्यादा मात्रा में एंटीबायोटिक दवाइयों का इस्तेमाल करना।
  • शरीर में यौन हार्मोन्स का आसामान्य होना।
  • पेशाब नली या थैली में कोई संक्रमण होना।
  • अनुवांशिकता की वजह से भी यह हो सकता है।
  • मानसिक समस्या के कारण यह अक्सर होता है।
  • तनाव या डिप्रेशन में रहना।
  • यौन अनुभव का न होना भी शीघ्रपतन का कारण है।
  • स्तंभन दोष के कारण भी शीघ्रपतन होता है।
  • पुरुष हॉर्मोन (Testosterone) के संतुलन का बिगड़ना भी इसका एक कारण है।

शीघ्रपतन रोकने की टैबलट और दवा – Shighrapatan Ki medicine or Ayurvedic Dawa in hindi

शीघ्रपतन को अवश्य रोका जा सकता है और इसकी कई तरह की दवाइयां आपको आसानी से उपलब्ध हो जाएँगी। जिसमे कुछ टैबलेट के रूप में होंगी और कुछ क्रीम इत्यादि के रूप में भी मिल जाएँगी। बहुत से लोग इन दवाइयों का इस्तेमाल कर चुके हैं जिससे उनको परिणाम तो अच्छे मिलते हैं लेकिन बाद में फीडबैक बहुत गंदे आते हैं। इसका कारण उन दवाइयों से होने वाले साइड इफेक्ट्स हैं।

जी हाँ ज्यादातर दवाइयां जो आपको मिलेंगी उनके बहुत ज्यादा साइड इफेक्ट्स होते हैं। इसीलिए आपको सबसे पहले किसी भी दवाई को लेने से पहले उसके बारे में जानना बहुत जरुरी होता है। आप इन दवाइयों से अपनी सेक्स लाइफ को ठीक करने के बजाये बिलकुल बिगड़ भी सकते हैं। एलोपैथी में वियाग्रा, सिल्डेनाफिल जैसी दवाइयों को शीघ्रपतन की दवा के रुप में इस्तेमाल किया जाता है।

सबसे अच्छा यह रहेगा कि आप सबसे पहले सेक्स स्पेशलिस्ट डॉक्टर के पास जाकर उन्हें अपनी समस्या बताएं। उसके बाद डॉक्टर आपको बताएँगे कि आपको इस समस्या से कैसे बाहर निकलना है। जिससे वह आपका तरीके से उपचार करेंगे और सही दवाइयां आपको बताएँगे। डॉक्टर के पास जाना इसलिए जरुरी है क्यूंकि यह समस्या किसी भी कारण से हो सकती है जिसका पता सिर्फ डॉक्टर ही लगा सकते हैं। इसके अलावा आप कुछ घरेलू और आयुर्वेदिक उपचारों के साथ भी इस समस्या को ठीक कर सकते हैं।

और पढ़ें:

शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक और घरेलू उपचार – Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa in hindi

1. अश्वगंधा (Ashwagandha): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • अश्वगंधा के इस्तेमाल से शरीर में ताकत का निर्माण होता है।
  • जिससे यौन सम्बन्धी समस्याओं में भी काफी मदद मिलती है।
  • अश्वगंधा का इस्तेमाल शीघ्रपतन के साथ-साथ नपुंसकता के रोग में भी किया जाता है।
  • अश्वगंधा पाउडर को 5 ग्राम की मात्रा में रोजाना लें और गुनगुने दूध के साथ एक बार सुबह और एक बार शाम के समय इसका सेवन करें। ऐसा लगातार 3 महिनों तक करते रहें आपको परिणाम अवश्य मिलेंगे।
ashwagandha shighrapatan ki ayurvedic dawa
अश्वगंधा

2. इलायची (Cardamom): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • इलायची के सेवन से भी आप शीघ्रपतन की समस्या से निजात पा सकते हैं।
  • रोज सुबह कम से कम तीन छोटी इलायची चबायें।
  • एक केला और 100 ग्राम खजूर के साथ मिश्री मिला हुआ गर्म दूध पियें।
  • इससे वीर्य की पूर्ण वृद्धि होगी तथा कामोत्तेजना उत्पन्न होगी।
cardamom
इलायची

3. अरण्ड का तेल (Castor oil ): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • अरण्ड के तेल से भी आप शीघ्रपतन की समस्या को कम कर सकते हैं।
  • लिंग के ऊपरी हिस्से में अरण्ड के तेल (Castor Oil) से मालिश करें।
  • इससे लिंग में तनाव आता है और रक्त प्रवाह भी तेज होता है।
  • जिससे शीघ्रपतन की समस्या दूर होती है।
  • बेहतर परिणाम के लिए किसी आयुर्वेदिक सेक्स चिकित्सक से जरूर बात करें।
shighrapatan ki dawa
अरण्ड का तेल

4. सूखे मेवे (Dry Fruits): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • सूखे मेवे का निरंतर दूध के साथ सेवन करें इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।
  • बादाम, किशमिश, पिस्ता, अखरोट, बीज इत्यादि को रोजाना डाइट में शामिल करें।
  • यह वीर्य को गाढ़ा बनाने में मदद करते हैं और शीघ्रपतन की समस्या को दूर करते हैं।
dry fruits
सूखे मेवे

5. प्याज (Onion): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • शीघ्रपतन में प्याज का सेवन करना सबसे उत्तम माना जाता है।
  • घर में इस्तेमाल होने वाला सामान्य प्याज और हरा प्याज, दोनों ही शीघ्रपतन में काफी फायदेमंद होते हैं।
  • खाना खाने से पहले एक गिलास या आधा गिलास पानी में हरे प्याज की एक चम्मच बीज घोलकर पीने से शरीर में ताकत आती है।
  • इसके अलावा कच्चा प्याज भी खाना चाहिए।
  • इस समस्या से निजात पाने के लिए हरा प्याज़ सबसे बेहतर साबित हो सकता है।
  • हरे प्‍याज के बीजों को पीस लें और पानी में मिलाएं और इसके बाद इस मिश्रण को सुबह, दिन और रात में भोजन करने से पहले पी लें ।
  • यह प्रक्रिया आपको एक महीने तक दोहरानी है। आप देखंगे आपकी सेक्स लाइफ में काफी सुधार आने लगेगा।
shighrapatan
प्याज

6. अदरक और शहद (Ginger and Honey): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • रात को सोने से पहले एक चम्मच अदरक पीस लें और उसमें आधा चमच्च शहद मिलाएं।
  • इस मिश्रण को जीभ द्वारा चाटें।
  • यह मिश्रण शरीर में गर्मी पैदा करेगा, जिससे रक्त का प्रवाह बेहतर होगा ।
  • यह शीघ्रपतन से छुटकारा पाने का आसान घरेलू इलाज है।
ginger and honey
अदरक और शहद

7. लहसुन (Garlic): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • किसी भी प्रकार की सेक्स समस्या होने पर लहसुन उसमें बहुत लाभकारी बताया गया है।
  • ठीक इसी तरह शीघ्रपतन की समस्या में भी लहसुन एक चमत्कारी विकल्प हो सकता है।
  • प्रतिदिन आपको 3 से 4 कच्चे लहसुन की कलियों का सेवन करना चाहिए।
  • इसका रोज़ सेवन करने से शीघ्रपतन में काफी राहत मिलेगी।
Garlic shighrapatan ki dawa
लहसुन

8. भिंडी पाउडर (Ladyfinger Powder): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • भिण्डी शीघ्रपतन का रामबाण इलाज माना जाता है।
  • एक चम्मच भिण्डी के पाउडर को एक गिलास दूध में घोलकर रोजाना पिएं।
  • इस उपाय को हर रात सोने से पहले करें। एक महीने में आपको फर्क दिखने लगेगा।
lady finger
भिंडी पाउडर

9. शतावरी (Asparagus): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • यह एक आयुर्वेदिक औषधि है और इसका इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों के इलाज में किया जाता है।
  • खासतौर पर यह सेक्स से जुड़ी समस्याओं के इलाज में बहुत अधिक फायदेमंद साबित होती है।
  • आयुर्वेद में शतावरी के फायदों के बारे में विस्तार से बताया गया है।
  • शतावरी के नियमित सेवन से शीघ्रपतन के मरीजों को जल्दी आराम मिलता है।
  • आधा चम्मच शतावरी चूर्ण को दिन में दो बार शहद या दूध के साथ मिलाकर खाएं।
Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa
शतावरी

10. केसर (Saffron): Shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa

  • केसर के मुख्य फायदों से तो सभी भलीभांति परिचित है लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि केसर में कामोत्तेजक गुण भी होते हैं।
  • आयुर्वेद के अनुसार केसर को दूध के साथ मिलाकर पीने से शीघ्रपतन की बीमारी ठीक हो जाती है।
  • इसके अलावा केसर के नियमित सेवन से सेक्स पॉवर और कामेच्छा बढ़ती है।
  • 5-7 केसर के रेशे को दूध में उबालकर रात में सोने से पहले पिएं।
saffron shighrapatan Ki Ayurvedic Dawa
केसर

शीघ्रपतन के परहेज – Shighrapatan (Premature ejaculation) Prevention in Hindi

  • एल्कोहल, धूम्रपान आदि नहीं करना चाहिए।
  • मानसिक तनाव से दूर रहने की कोशिश करें।
  • जंकफूड, पिज्जा, बर्गर, कोल्ड ड्रिंक, पेस्ट्री आदि बिल्कुल ना खाएं।
  • तेल, मिर्च मसाले वाला खाना कम खाएं।
  • जल्दी वीर्य गिरने से रोकने के लिए जरूरी है कि सम्भोग के दौरान मन में किसी भी प्रकार का डर और घबराहट ना रखें।
  • शीघ्रपतन रोकने के लिए आप योग और एक्सरसाइज भी कर सकते हैं, क्योंकि योग से आप मानसिक और शारीरिक रोगों का उपचार आसानी से कर सकते हैं।
  • संभोग करते वक्त जब वीर्य निकलने जैसा लगने लगे तब गहरी लंबी सांस लें। इस तरीके से धड़कन कम होगी और वीर्य भी नहीं गिरेगा।
  • थकान और तनाव से भी शीघ्रपतन होने लगता है, इसलिए अपने आपको तनाव मुक्त रखें। थकान होने पर पहले कुछ देर आराम करें।

निष्कर्ष (Conclusion)

शीघ्रपतन का उपचार करना सुखी वैवाहिक जीवन के लिए अत्यंत जरुरी होता है। बहुत से पुरुष इस समस्या से नजात पाना चाहते हैं। जिसके चलते वह कई बार बाबाओं की शरण लेते हैं जो कि बिलकुल ही अनुचित है। इसके लिए आप सेक्स स्पेशलिस्ट डॉक्टर के पास जाकर जांच करवाएं। उनसे परामर्श लें। वह आपकी समस्या का निदान करेंगे और उचित मार्ग दिखाएंगे। इसके अलावा आप आयुर्वेदिक और घरेलू उपचारों की मदद से भी शीघ्रपतन से छुटकारा पा सकते हैं।

You may also like

Leave a Comment

हमारे बारे में

Foggfitness भारत में स्थित एक ऑनलाइन वेबसाइट है जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है। इसके साथ ही हमारा मकसद लोगों को फिटनेस के प्रति भी जागरूक करना है। इस वेबसाइट में हर दिन कई ब्लॉग लिखे जाते हैं, जिसमें लोगों को हर जानकारी दी जाती है।

नवीनतम लेख

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More