Home हैल्थ और फिटनेसनुट्रिशन और डाइट Recipe of poha in Hindi | कांदा पोहा बनाने का शानदार तरीका

Recipe of poha in Hindi | कांदा पोहा बनाने का शानदार तरीका

by Foggfitness
0 comment

Recipe of poha in Hindi: पोहा एक बहुत ही स्वादिष्ट और हेल्दी नाश्ता/स्नैक्स (snacks) है। जो पश्चिम भारत के लोगों में बहुत ही लोकप्रिय और पसंदीदा व्यंजन है। इसे महाराष्ट्र में पोहे और गुजरात में पोहा के नाम से जाना जाता है। चिवड़े से बनने वाला यह नाश्ता बहुत ही स्वादिष्ट और कम चिकनाई वाली रेसिपी है। इसे बड़ी ही आसानी से घर पर बनाया जा सकता है। इस आर्टिकल में हम आपको नारियल के साथ कांदा पोहा रेसिपी के बारे में बताएंगे।

अगर आपके पास समय कम है और आप चाहते हैं कि कुछ ही समय के अंदर हेल्दी और स्वादिष्ट नाश्ता तैयार हो पाए तो उसके लिए आप नारियल के साथ कांदा पोहा रेसिपी का चयन कर सकते हैं। जिसे कुछ ही समय के अंतर्गत जल्दी से तैयार किया जा सकता है।

वैसे तो पोहा बनाने की अनेक विधियां प्रचलित है। लेकिन भारत में नमकीन पोहा ज्यादा पसंद किया जाता है। नमकीन और चटपटा पोहा बनाने के लिए बहुत ही कम समय लगता है, यह झटपट तैयार हो जाता है। यह एक हेल्दी नाश्ता है, इसे आप कुछ ही समय में तैयार कर सकते हैं। इसके सेवन से आप अपनी हेल्थ को भी स्वस्थ रख सकते हैं। पोहा रेसिपी (Recipe of poha in Hindi) को बनाने के लिए बहुत ही कम सामग्री की आवश्यकता होती है जो कि हर रसोई में बड़ी ही आसानी से प्राप्त हो जाती है। लेकिन सबसे पहले हम यह जानते है कि पोहा किसे कहते है?

पोहा किसे कहते है- Recipe of poha in Hindi

पोहा चावल के दानों को छीलकर और फिर उन्हें उबालकर या 40-45 मिनट के लिए गर्म पानी में भिगोकर बनाया जाता है। फिर उन्हें सुखाया जाता है, भुना जाता है और फिर रोलर्स से चपटा किया जाता है।

पोहा एक सबसे अच्छा नाश्ता है क्योंकि इसमें लगभग 70% स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट और 30% वसा होता है। इस प्रकार, यदि आप अपने दिन के लिए ईंधन चाहते हैं, तो पोहा बेहतर काम करता है। दूसरी ओर, चावल खाने से लोगों की नींद उड़ जाती है और पूरे दिन आपके प्रदर्शन पर असर पड़ सकता है।

कांदा पोहा बनाने की बेहतरीन विधि – Recipe of poha in hindi

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको कांदा पोहा बनाने की विधि के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसे बनाना बहुत ही आसान है। पोहा बनाने के लिए सबसे पहले आपको कुछ तैयारियों की आवश्यकता होती है। जिसके लिए हम आपको समय सारणी बता रहे हैं जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कांदा पोहा बनाने के लिए कितना समय लगता है।

recipe of kanda poha in hindi
कांदा पोहा
तैयारियांसमय
पूर्व तैयारियों का समय10 मिनट
पकाने का समय15 मिनट
कितने लोगो के लिए2 लोगों के लिए
कुल समय25 मिनट
स्वादनमकीन/चटपटा

कांदा पोहा रेसिपी सामग्री – Kanda poha Ingredients in hindi

कांदा पोहा बनाने के लिए आपको कुछ सामग्री की आवश्यकता होती है। जिसके बारे में आपको निचे विस्तार से बताया गया है। इन सामग्रियों को आप इकठ्ठा कर लें और कांदा पोहा बनाने की शुरुआत करें।

पोहा भिगोने के लिएकांदा पोहा बनाने के लिए (Recipe of poha in Hindi)
1.5 कप पोहा (मोटा)2 बड़े चम्मच तेल
1 छोटा चम्मच चीनी2 बड़े चम्मच मूंगफली
छोटा चमच नमक1 छोटा चम्मच सरसों
1 टेबल चम्मच: हल्दी1 छोटा चम्मच जीरा
1 चुटकी हींग
7-8 करी पत्ते
2 मिर्च (बारीक कटी हुई)
1 इंच अदरक (बारीक कटा हुआ)
1 प्याज (बारीक कटा हुआ)
¼ टेबलचम्मच: हल्दी
2 टेबल स्पून नारियल (कद्दूकस किया हुआ)
¼ छोटा चमच नमक (स्वादनुसार)
2 टेबल स्पून हरा धनिया (बारीक कटा हुआ)
1 नींबू का रस
1 सेब (सजावट के लिए)
नोट: पोहा बनाने से पहले सभी सामग्री को एकत्रित कर लें।

कांदा पोहा रेसिपी बनाने की विधि – Kanda poha banane ki recipe

कांदा पोहा बनाने के लिए आपको बताये गयी बातों का अनुसरण करना है जिनको निचे विस्तार से बताया गया है।

  • आप सबसे पहले, एक बड़े कटोरे में 1.5 कप पोहा लें। पतले पोहे का इस्तेमाल न करें क्योंकि पानी डालते ही वह गूदेदार हो जाता है। इसलिए मोटे पोहे का इस्तेमाल करें।
  • पानी में धोकर पानी निकाल दें।
  • पानी निकालने के लिए बड़ी छन्नी का प्रयोग कर सकते है।
  • 1 टी स्पून चीनी, ¾ टीस्पून नमक और ¼ टीस्पून हल्दी डालें। (छिड़कते हुए डालें)
  • पोहा को गूदेदार बनाये बिना अपनी उंगलियों का उपयोग करके धीरे-धीरे मिलाएं।
  • 8-10 मिनट के लिए आराम दें या जब तक पोहा गूदेदार या चिपचिपा मोड़ के बिना नरम न हो जाए।
  • अब एक बड़ी कढ़ाई में 2 टेबलस्पून तेल गरम करके 2 टेबलस्पून मूंगफली को कम आंच पर भूनें।
  • मूंगफली के कुरकुरे होने तक भूनें, और निकालकर एक तरफ रख दें।
  • उसी तेल में, 1 टीस्पून सरसों, 1 टीस्पून जीरा, चुटकी हींग और 7-8 करी पत्ते डालें और तड़के को फूटने दें।
  • अब 2 मिर्च, 1 इंच अदरक और 1 प्याज (बारीक़ कटा हुआ) डालें। प्याज को थोड़ा नरम होने तक भूनें।
  • इसके अलावा, ¼ टीस्पून हल्दी और ¼ टीस्पून नमक डालें और फिर थोड़ा भूनें। यह सब करने के बाद इसमें भिगोया हुआ पोहा डालें और सभी चीजों को अच्छी तरह से मिलाएं।
  • कढ़ाई को ढककर 3 मिनट के लिए पोहे को अच्छी तरह से पकने दें।
  • अब इसमें भुनी हुई मूंगफली, 2 टेबल स्पून नारियल (कद्दूकस किया हुआ), 2 टेबलस्पून धनिया और 1 नींबू का रस डालें और अच्छी तरह से मिलाएं।
  • अंत में, सुबह के नाश्ते के रूप में कांदा पोहा को सेब की कलियों से सजाकर इस रेसिपी का भरपूर आनंद लिजिएं।

और पढ़ें:

कांदा पोहा बनाते समय ध्यान रखने योग्य बातें:

  • पोहे को ज्यादा देर पानी में भिगोकर न रखें, इससे पोहा चिपचिपा और बहुत अधिक गूदेदार हो जाएगा। पोहे को पानी में भिगोकर एक से दो बार धोकर पानी से अलग कर ले।
  • इसके लिए आप बड़ी छलनी का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपके पास छन्नी नहीं है तो आप पोहे में इतना ही पानी का इस्तेमाल करें जिससे पोहा नरम हो जाये।
  • इस रेसिपी में बदलाव के लिए आप आलू या अन्य मिक्स सब्जियां भी डाल सकते हैं।
  • प्याज को बारीक काटे और इन्हे सिकुड़ने तक अच्छे से भूनें।
  • इसमें नारियल डालना आपकी मर्ज़ी पर निर्भर करता है। लेकिन इससे इसका फ्लेवर बढ़ जाता है और अधिक स्वादिस्ट लगता है।
  • कांदा पोहा रेसिपी महाराष्ट्रियन स्टाइल में ज्यादा गीला और पिलपिला नहीं होती है। यह रेसिपी गरमागरम ज्यादा स्वादिष्ट लगती है।

पोहा रेसिपी से संबंधित प्रश्न उत्तर – Recipe Question Answer (FAQ)

पोहा खाने के क्या फायदे हैं?

पोहा खाने के अनेक फायदे हैं। पोहा में अच्छी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और अनेक प्रकार के मिनरल्स पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। अगर आप डाइट पर हैं तब भी पोहे का इस्तेमाल कर सकते हैं। वजन घटाने और वजन बढ़ाने दोनों के लिए ही प्रयोग में लाया जाता है। लेकिन निर्भर यह करता है कि आप अपनी डाइट के अनुसार ही पोहे की मात्रा को शामिल करें। पोहा खाने से पाचन क्रिया मजबूत होती है। कार्ब्स की मात्रा अधिक होने के कारण हमें जल्दी भूख भी नहीं लगती है। इस प्रकार यह वजन कम करने में हमें सहायता प्रदान करता है।

पोहा खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं?

जिन लोगों को शुगर है रोजाना अगर वह पोहे का सेवन करते हैं, तो उनका शुगर लेवल बढ़ने का खतरा रहता है। पोहे के अंदर कार्ब्स अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। जो लोग पोहे का बहुत अधिक सेवन करते हैं तो उनका वजन भी बढ़ता है। जो लोग अपना वेट या फैट कम करना चाहते हैं तो उन्हें अपने डाइट के अनुसार ही पोहे का सेवन करना चाहिए।

क्या पोहा खाने से पेट में गैस बनती है?

नहीं, पोहा खाने से पेट में गैस नहीं बनती है। पोहा खाने से ना ही आपको गैस की समस्या होती है ना ही ब्लोटिंग की समस्या होती है यह आपके स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल सही है।

चावल और पोहा में क्या अंतर है?

पोहा बनाने के लिए चावल को आधा पकाकर फिर मशीन की सहायता से इसको दबाकर चपटा किया जाता है और सुखाया जाता है इसे कच्चे पोहे के नाम से जाना जाता है। कुछ पोहा सीधा धान से भी बनाया जाता है। पोहे की लंबाई चावल पर पड़ने वाले दबाव के कारण कम या ज्यादा होते हैं पोहा देखने में थोड़ा भूरे रंग का होता है।

पोहे कितने प्रकार के होते हैं?

बाजार में पोहा दो प्रकार के उपलब्ध है – मोटा और पतला।

क्या पोहा खाने से वजन बढ़ता है?

नहीं, पोहा लिमिट में खाने से वजन बढ़ता नहीं बल्कि शरीर ऊर्जावान बना रहता है क्योंकि इसके अंदर बहुत अधिक मात्रा में काम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट होते हैं। इसके अलावा इसमें आयरन, विटामिन, फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध होते हैं। इसे खाने के बाद आपका पेट काफी देर तक भरा रहता है। इसलिए आप ज्यादा कैलोरी लेने से बच जाते हैं।

You may also like

Leave a Comment

हमारे बारे में

Foggfitness भारत में स्थित एक ऑनलाइन वेबसाइट है जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है। इसके साथ ही हमारा मकसद लोगों को फिटनेस के प्रति भी जागरूक करना है। इस वेबसाइट में हर दिन कई ब्लॉग लिखे जाते हैं, जिसमें लोगों को हर जानकारी दी जाती है।

नवीनतम लेख

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More