Home हैल्थ और फिटनेसएक्सरसाइज और योग पेट की चर्बी को कम करने के लिए व्यायाम

पेट की चर्बी को कम करने के लिए व्यायाम

by Foggfitness
0 comment

Table of Contents

पेट की चर्बी को कम करने के लिए व्यायाम – How to lose belly fat exercise

How to lose belly fat exercise: पेट की चर्बी से आज दुनिया में सारे लोग परेशान है। यह किसी सरदर्द से कम नहीं होता है। हर इंसान चाहता है कि उसका पेट एकदम फिट और स्लिम हो। लेकिन एक बार पेट बढ़ने के बाद कम होने का नाम ही नहीं लेता है। लेकिन आपको धैर्य की आवश्यकता होगी अपने पेट की चर्बी को कम करने के लिए।

इसी प्रकार ध्यानपूर्वक आहार का सेवन और व्यायाम करना होगा। इस प्रकार आप पेट की चर्बी से छुटकारा पा सकते है। अच्छी और पर्याप्त नीद न लेने की वजह से भी हमारा वजन बढ़ता है। इसके साथ -साथ शरीर के अलग अलग हिस्सों में भी चर्बी जमा हो जाती है। ज्यादा तनाव लेने से हार्मोनल में बदलाव आते है यह भी शरीर में चर्बी जमा होने का एक बड़ा कारण है। इसलिए हमे तनावमुक्त और कम से कम 7-8 घंटे की नींद लेना आवश्यक है। तो चलिए सबसे पहले हम ये जान लेते है कि पेट की चर्बी बढ़ने के क्या कारण है।

मोटापा (चर्बी ) क्या है? What is Obesity (fat)

मोटापा वह स्थिति है, जब बहुत अधिक शारीरिक वसा शरीर पर जमा हो जाती है और वह हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालने लगती है। हमारे शरीर में अनेक बीमारियां उत्पन होने लगती है। संभवतः यह मोटापा हमारी आयु को भी कम कर सकता है।

पेट की चर्बी बढ़ने के कारण- Causes of increased abdominal fat

हम आज आपको पेट पर चर्बी जमा होने के कई कारण बताने जा रहे है जिससे अपने पेट पर चर्बी बढ़ने से रोक सकें। पेट पर चर्बी जमा होने के कई कारण है और आपको ये कारण बताने अति आवश्यक है। पेट हो या शरीर सबसे पहले चर्बी पेट में जमा होती है। चर्बी बढ़ने से शरीर का वजन बढ़ जाता है। शरीर पर मोटापा आने का मतलब है कि कई सारी बीमारियों को न्योता देना। अतः शरीर के अलग -अलग हिस्सों में चर्बी जमा होने से बहुत सारी स्वास्थ्य संबंधी समस्या उत्पन हो जाती है। कोलेस्ट्रॉल, ब्लड प्रेशर, डिमेंशिया और दिल का दौरा जैसी अनेक समस्या उत्पन हो जाती है। पेट व शरीर पर चर्बी जमा होने के कारण निम्न प्रकार से है।

एल्कोहल का सेवन: Alcohol consumption

अगर आप एल्कोहल का सेवन करते है तो सचेत हो जाये। क्योंकि एल्कोहल का सेवन करने से शरीर पर मोटापा आता है। इस प्रकार कई सारी स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां भी लग जाती है।

बढ़ती उम्र: Growing old

शरीर पर चर्बी बढ़ने का एक प्रमुख कारण बढ़ती उम्र भी है। बढ़ती उम्र से हमारे जीवन जीने के तरिके में बहुत अधिक परिवर्तन आ जाता है। जिससे हमारे शरीर के अलग -अलग हिस्सों में चर्बी जमा होना शुरू हो जाता है जिसके कारण हमारे पुरे शरीर पर मोटापा आ जाता है।

शारीरिक गतिविधि का न होना: Lack of physical activity

बहुत सारे लोग इतने व्यस्त होते है कि वो कोई शारीरिक कार्य नहीं कर पाते है इसलिए उन्हें मोटापा घेर लेता है। लेकिन कुछ लोग अपने आलस की वजह से भी कोई शारीरिक गतिविधि नहीं करते है। यह भी मोटापा बढ़ने का एक कारण है।

प्रोसेस्ड फ़ूड का सेवन: Processed food intake

इसका सेवन वास्तव में स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक होता है। प्रोसेस्ड फ़ूड में फ्रुक्टोज़ की अधिक मात्रा पायी जाती है जिसके कारण हमारे पेट की चर्बी तेजी से बढ़ती है। पेट के साथ -साथ पुरे शरीर पर चर्बी एकत्रित हो जाती है।

आनुवंशिक: Genetic

वैज्ञानिकों के शोध के अनुसार, अगर किसी परिजन को मोटापे की समस्या है तो आने वाली पीढ़ी को भी इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

हार्मोन्स में बदलाव: Change in hormones

पुरुषो में हार्मोन्स के मुकाबले महिलाओं में हार्मोन्स में ज्यादा बदलाव आता है। जब महिलाएं अपने जीवन के मध्य में पहुंचती है, तो महिलाओं में वजन के मुकाबले चर्बी बहुत तेजी से बढ़ती है। मेनपॉज के दौरान एस्ट्रोजन हार्मोन्स का स्तर बहुत कम हो जाता है और एंड्रोजन हार्मोन्स का स्तर ज्यादा हो जाता है। इस प्रकार हार्मोन्स में बदलाव आने से कमर के आस- पास की चर्बी बढ़ जाती है।

कम प्रोटीन और ज्यादा कार्ब्स का सेवन: Low protein and high carbs intake

कार्ब्स और जंक फ़ूड का अधिक सेवन से हमारा मोटापा तेजी से बढ़ता है। हमे अपने आहार को संतुलित रखना चाहिए और प्रोटीन की मात्रा बढ़ानी चाहिए।

पेट की चर्बी को कम करने के लिए व्यायाम- How to lose belly fat exercise

वजन बढ़ने का व्यक्ति को तब एहसास होता है जब उसके कपडे टाइट आने और सीढ़ियों पर चढ़ते समय सांस फूलने जैसी समस्या शुरू हो जाती है। तब व्यक्ति को अपने मोटापे के प्रति चिंता शुरू हो जाती है और यही चिंता मोटापे को और ज्यादा बढ़ा देती है। जिससे मोटापा ज्यादा होने कारण यह हमारी पर्सनालिटी को भी खराब कर देता है साथ में बिमारियों को भी जन्म देता है। हमें शर्मिंदगी महसूस होने लगती है और इसको कम करने के बारे में सोचने लगते हैं। हम आपको वो सब कुछ बताएँगे जिन बातों का ध्यान रखते हुए आप अपने पेट के मोटापे से छुटकारा पाने के लिए हम कौन से व्यायाम कर सकते हैं।

नौकासन व्यायाम से घटा सकते है अपने पेट की चर्बी- Naukasana can reduce your abdominal fat with exercise

जी हां, नौकासन व्यायाम सिर्फ पेट की चर्बी कम नहीं करता बल्कि साथ ही शरीर के वजन को कम करता है। नौकासन करने से आपके चेहरे की चमक भी बढ़ जाएगी। क्योंकि नौकासन करने से शरीर में रक्त संचार अच्छे से प्रवाह करता है।

How to lose belly fat exercise

नौकासन करने की विधि- Methods of naukasana

  • यह व्यायाम करने के लिए पहले जमीन पर सीधा लेट जाएं।
  • अब गहरी सांस भर लें।
  • सांस भरने के बाद अब अपने कंधो और सिर को ऊपर उठाये।
  • इसी प्रकार अब अपने पैरो को भी ऊपर उठाएं।
  • अब ध्यान दे कि आपके हाथ, पैर और कंधे एकसार होने चाहिए।
  • कुछ समय इस अवस्था में रहने के बाद आप धीरे -धीरे सांस छोड़ते हुए अपने हाथ, पैर और कंधों को पहले वाली अवस्था में ले आये।
  • इस प्रक्रिया को 3-4 बार दोहराएं।

नौकासन करने से मिलने वाले लाभ- Benefits of naukasana

  • इस व्यायाम को करने से पेट की सभी समस्याएं समाप्त हो जाती है
  • यह व्यायाम पेट की चर्बी को कम करता है।
  • योगासन करने से पाचन तंत्र मजबूत बनता है।
  • यह पेट की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मददगार है।
  • इसे करने से पैरो की ढीली हो चुकी त्वचा में कसाव आता है।

उष्ट्रासन से करे अपनी पतली कमर: Make your waist thin with Uttrasana

अगर आप अपनी कमर को पतला करना चाहते है और अपने शरीर को एक आकार देना चाहते है तो उष्ट्रासन का अभ्यास आपके लिए है। तो चलिए जानते है कि यह कैसे किया जाता है और इसके क्या फायदे है।

How to lose belly fat exercise

उष्ट्रासन करने की विधि- Methods of Uttrasana

  • सबसे पहले आप जमीन पर एक चटाई बिछा लें।
  • अब आप चटाई पर घुटनो के बल बैठ जाये ठीक उसी तरह आप व्रजासन में बैठते है।
  • पैरों को जांघो को एक साथ रखें और आपके पैरों के पंजे पीछे की तरफ फर्श पर लगे होने चाहिए।
  • यह सब करने के बाद अब अपने घुटनो के बल खड़े हो जाएँ।
  • इस बात का ख़ास ध्यान रखे कि घुटनों और पैरों के पंजो के बीच की दुरी समान हो।
  • अब लम्बी सांस भरे और सांस छोड़ते हुए अपनी कमर को पीछे की ओर झुकाएं , कमर झुकाते समय दाएं हाथ से दाईं एड़ी को और बाएं हाथ से बाईं एड़ी को पकड़ने की कोशिश करें।
  • कुछ समय के बाद अपनी पहली वाली अवस्था में आ जाये।
  • इस प्रक्रिया को 4-5 बार दोहराएं।

उष्ट्रासन से मिलने वाले लाभ- Benefits from Uttrasana

यह व्यायाम पेट और कमर को लचीला बनाता है। कमर के साथ -साथ पेट की चर्बी को भी कम करता है। महिलाओं में मासिक धर्म से जुड़ी समस्यायों में ही यह लाभप्रद है।

भुजंगासन से करे अपने पेट के मोटापे को कम: Reduce your abdominal obesity with Bhujangasana for loose belly fat exercise

अगर आप अपने पेट की चर्बी को तेजी से कम करना चाहते है तो दूसरे व्यायामों के साथ भुजंगासन को जरूर शामिल कर लें। यह व्यायाम पेट की चर्बी को कम करने के लिए बहुत लाभदायक है।

How to lose belly fat exercise

भुजंगासन करने की विधि- Method of performing Bhujangasana

  • यह व्यायाम करने के लिए सबसे पहले आप पेट के बल लेट जाएँ।
  • लेटने के बाद अपने दोनों हाथों को छाती के पास ले आए और अपने हाथ की हथेलियों को जमींन पर रख लें।
  • अब गहरी सांस भरते हुए धीरे -धीरे छाती की ओर से ऊपर उठे।
  • आपको केवल नाभि तक उठना है
  • इसके बाद अपनी सांस को धीरे -धीरे छोड़ते हुए अपनी पहली वाली अवस्था में आ जाये।
  • इस पूरी प्रक्रिया को 8-9 बार दोहराये।

भुजंगासन से मिलने वाले लाभ- Benefits from Bhujangasana

  • यह व्यायाम आपकी पेट की चर्बी और कमर की चर्बी को कम कर देती है।
  • रोजाना यह व्यायाम करने से कमर के आस -पास का मोटापा ख़तम हो जाता है।
  • इसे करने से बाजू और कंधों में मजबूती आती है।
  • कमर और पीठदर्द की समस्या को समाप्त करता है।
  • पेट की सभी बिमारियों को दूर करने में अत्यधिक लाभप्रद है।
  • इसे करने से भूख समान्य हो जाती है और कब्ज़ की समस्या से राहत मिलती है।

चक्रासन है बेहद लाभदायक: Chakrasana is very beneficial for lose belly fat exercise

अगर बात करें चक्रासन कि तो यह आसन करना इतना आसान नहीं है। जितना यह लगता है। इसे बड़ी सावधानीपूर्वक करना चाहिए। हम आपको इसे करने का बहुत ही आसान तरीका बताने जा रहे है।

Chakrasana

चक्रासन करने की विधि- Method of Chakrasana

  • सबसे पहले आप चटाई पर पीठ के बल लेट जाएं।
  • अब आप अपने घुटनो को मोड़ ले।
  • इसके बाद अपनी एड़ियों को नितंबो से स्पर्श कराते हुए अपने पैरो को 12-13 इंच की दूरी पर रखें।
  • अब अपनी बाजू उठाये और कोहनियों को मोड़ ले।
  • इसके बाद अपने हाथों की हथेलियों को कंधों से थोड़ा सा ऊपर और सिर के निकट जमींन पर रख लें।
  • अब सांस ले और अपने पुरे शरीर को ऊपर उठाते हुए अपनी पीठ को मोड़े।
  • सिर को लटकता हुआ छोड़ दे और अपने पैरों और हाथों को तान लें।
  • धीरे- धीरे सांस ले और धीरे -धीरे सांस छोड़ें।
  • आपके लिए जब तक संभव हो सके इस मुद्रा में रहें।
  • इसके बाद अपने शरीर को धीरे -धीरे निचे की और लाएं।
  • फिर शरीर को पहले वाली अवस्था में लें आएं।
  • शरीर को जमींन पर ही टिका रहने दें और विश्राम करें।
  • यह आपका एक चक्र समाप्त हुआ।
  • इस तरह चक्रासन को आप 4-5 बार दोहराएं।

चक्रासन मिलने वाले लाभ- Benefits of Chakrasana

  • यह पेट और कमर की चर्बी को कम करता है।
  • चक्रासन बुढ़ापें को रोकता है।
  • त्वचा की खूबसूरती के लिए बहुत लाभदायक है।
  • रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाता है और रीढ़ की हड्डी की समस्या को दूर करता है।
  • कमर को अच्छा आकार प्रदान करता है।
  • छाती को छोड़ा बनाता है।
  • कंधे व घुटने को मजबूत बनाता है।
  • पाचन तंत्र संबंधी सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है।
  • ह्रदय को स्वस्थ बनता है।
  • शरीर में स्फूर्ति लाता है।

चक्रासन करते समय रखें ये सावधानियां- Keep these precautions while Chakrasana for lose belly fat exercise

  • इस आसान को करने के लिए कभी भी इसे नहीं करना है।
  • जिन व्यक्ति को ह्रदय की समस्या हो, वे उस व्यायाम को न करें।
  • हाई ब्लड प्रेशर वाले इसे करने से बचे।
  • महिलायें मासिक धर्म में इसे न करें।
  • चक्कर आने की स्थिति में इसे न करे।
  • नेत्र दोष, हर्निया, गर्दन के दर्द में इसे न करे।

You may also like

Leave a Comment

हमारे बारे में

Foggfitness भारत में स्थित एक ऑनलाइन वेबसाइट है जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है। इसके साथ ही हमारा मकसद लोगों को फिटनेस के प्रति भी जागरूक करना है। इस वेबसाइट में हर दिन कई ब्लॉग लिखे जाते हैं, जिसमें लोगों को हर जानकारी दी जाती है।

नवीनतम लेख

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More