Home हैल्थ और फिटनेसघरेलू उपचार हस्तमैथुन के चौंकाने वाले फायदे और नुक्सान | Hastmaithun ke labh hani

हस्तमैथुन के चौंकाने वाले फायदे और नुक्सान | Hastmaithun ke labh hani

by Foggfitness
0 comment

Hastmaithun ke labh hani: हस्तमैथुन जिससे जुड़े हुए कई तरह के मिथक हैं। हस्तमैथुन हर वर्ग और आयु के लोग करते हैं, चाहे पुरुष हो या महिला। अगर कोई नहीं करता है तो इसके बारे में जनता अवश्य होगा। विज्ञान की माने तो उन्होंने साफ़-साफ़ कहा है कि हस्तमैथुन एक शारीरिक प्रक्रिया है। इसे हमेशा ही गलत नज़रों से देखा गया है जिसके चलते लोगों ने कई गलत अवधारणाएं बना दी हैं। जिसके चलते आज के युवा समझ ही नहीं पा रहे हैं कि क्या हस्तमैथुन (Hastmaithun) सही है या गलत। हस्तमैथुन को लेकर इतने सारे मिथक फैलाये गए हैं कि उनके जवाब देना भी संभव नहीं हो पाता है। फिर भी हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से हस्तमैथुन के बारे में पूर्ण जानकारी देने का प्रयास करेंगे। हम पूरा प्रयास करेंगे कि आपके मन में उठ रहे सभी सवालों का जबाव दे पाएं।

हस्तमैथुन करना बिलकुल प्राकृतिक है। इससे शरीर तनाव मुक्त रहता है और आनंद मिलता है। हस्तमैथुन के दौरान हमारे शरीर में आनंद प्रदान करने वाले हार्मोन्स रिलीज़ होते हैं। जिनसे शरीर के सभी ऑर्गन्स, स्किन, बाल, नाख़ून, आँखें, ह्रदय और हड्डियां आदि आनंदित महसूस करते हैं। इस तरह के हार्मोन्स का शरीर में पैदा होना अत्यंत आवश्यक होता है। आजकल के तनाव भरे जीवन में हम शरीर को तनाव से ग्रसित करते जा रहे हैं। आप शरीर को जितना आनंदित रखेंगे उतना ही आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। हस्तमैथुन (Hastmaithun) सेक्सुअल तनाव को दूर करने का एक सुरक्षित तरीका है। जिसे सभी लिंग, जाति और वर्ग के लोग करते हैं।

हस्तमैथुन (Hastmaithun) क्या है?

हस्तमैथुन (Hastmaithun) यौन संतुष्टि (सेक्सुअल तनाव को दूर करने) की एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। पुरुष हो या स्त्री कभी न कभी यह अवश्य करते हैं। इसे सिर्फ युवा लोग ही नहीं बल्कि बुड्ढे लोग भी करते हैं। उन्हें ऐसा लगता है कि वह यौन प्रक्रिया के लिए अभी सक्षम हैं। पुरुष और स्त्री चाहे विवाहित हो या अविवाहित हो हर कोई अपनी यौन इच्छाओं को पूरा करने के लिए हस्तमैथुन करते हैं।

औसत तौर पर पुरुष 12 से 13 वर्ष की उम्र से ही हस्तमैथुन शुरू कर देते हैं और महिलाएं 13 से 19 वर्ष के बीच में हस्तमैथुन करना शुरू करते हैं। यह मामला इतना ढका हुआ रहता है कि कभी चर्चा में ही नहीं आता है। हस्तमैथुन के बारे में लोगों द्वारा कई मिथक भी बनाये जा चुके हैं। ऐसा इसीलिए क्यूंकि इस प्रक्रिया को हमेशा गलत नज़रों से देखा गया है। अब आजकल के युवा इन बातों पर खुलकर चर्चा करने लगे हैं और इससे सम्बंधित सभी मिथकों को नष्ट करने में जुटे हुए हैं।

और पढ़ें: प्राइवेट पार्ट को गोरा करने के घरेलू उपाय

हस्तमैथुन (Hastmaithun ke labh hani) कैसे किया जाता है?

पुरुष और महिलाओं के हस्तमैथुन करने का तरीका अलग-अलग होता है। जिसके बारे में आपको बताया जा रहा है –

पुरुष – पुरुष अपने लिंग (Penis) को अपनी मुट्ठी में दबाकर या अपनी अँगुलियाँ से पकड़ कर इसे तेजी से रगड़ना शुरू करते हैं। अर्थात लिंग के ऊपर की त्वचा को आगे-पीछे हिलाना शुरु करते हैं। यह प्रक्रिया कभी-कभी वे लिंग के मुण्ड पर चिकनाई लगाकर भी करते हैं। इस कार्य में उन्हें अपार आनन्द की अनुभूति होती हैं। ये कार्य वे तब तक जारी रखते हैं जब तक उनका वीर्यपात या वीर्य स्खलन नहीं हो जाता।

इसके अतिरिक्त पुरुष हस्तमैथुन (Hastmaithun) करने के और भी कई तरह के तरीके अपनाते हैं। कुछ लोग तकिये का इस्तेमाल करते हैं। तकिये को फोल्ड कर अपने लिंग को उसके अंदर डालकर आगे पीछे हिलाते हैं। उससे उनको महसूस होता है कि वह महिला की योनि में लिंग को डाल रहे हैं।

आजकल बाज़ार में सॉफ्ट फाइबर से बने हुए महिला के नकली प्राइवेट पार्ट उपलब्ध हैं जो बिलकुल एक महिला की तरह ही आनंद की अनुभूति प्रदान करते हैं। इसके अलावा पुरुष और भी कई सारी तकनीकों का सहारा लेते हैं।

महिला – महिलाएं अपनी योनि को रगड़ना या हिलाना शुरू करती हैं। इसके साथ-साथ वह अपनी उँगलियों को भी योनि के अंदर डालकर जोर-जोर से हिलाती हैं। इससे उन्हें अपार आनंद की अनुभूति होती है। बहुत सारी महिलायें इस प्रक्रिया के दौरान अपने वक्षों को भी रगड़ती हैं।

आजकल बाजार में महिलाओं को यौन सुख देने के लिए कई तरह के बाइब्रेटर और डिलडो मिल जाते हैं। डिलडो बिलकुल ही पुरुषों के लिंग की तरह होते हैं जिनका इस्तेमाल काफी महिलायें करती हैं। यह एक प्राकृतिक और बेहतर तरीका है जिससे यौन सुख को प्राप्त किया जा सकता है। कुछ महिलाएं केवल सोचकर ही चर्म सीमा तक पहुँच जाती हैं और अपनी टांगों को कसकर भींच लेती हैं। इससे उन्हें यौन सुख की प्राप्ति हो जाती है और किसी को पता भी नहीं चलता।

महिलाएं हस्तमैथुन (Hastmaithun) के लिए सब्जियों (खीरा, बेंगन, गाजर, मूली, ककड़ी, पेन, पेन्सिल, मोमबत्ती और अन्य लम्बे मोठे औजार) का सहारा भी लेती हैं। इस प्रक्रिया से भी उन्हें यौन सुख की प्राप्ति हो जाती है।

hastmaithun ke labh hani

हस्तमैथुन के चौंकाने वाले फायदे (Hastmaithun ke labh hani)

यह एक स्वस्थ यौन गतिविधि मानी जाती है। इससे शारीरिक और मानसिक कई तरह के फायदे पुरुष और महिला को मिलते हैं। इस आर्टिकल में हम उनके बारे में भी चर्च करेंगे।

  • हस्तमैथुन के द्वारा यौन तनाव को दूर किया जा सकता है।
  • इसके द्वारा आप आनंदित महसूस करते हैं।
  • सेक्सुअल तनाव को दूर किया जा सकता है।
  • मानसिक तनाव को दूर करने में सहायक होता है।
  • बेहतर नींद आती है।
  • मूड को बेहतर बनाया जा सकता है।
  • शरीर आराम करने की अवस्था में आ जाता है।
  • सेक्सुअल जीवन को बेहतर बनाया जा सकता है।
  • वैज्ञानिकों का कहना है कि हस्तमैथुन से वीर्यपात के कारण कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है।
  • हस्तमैथुन के द्वारा यौन संक्रमण से भी बचा जा सकता है।
  • इसके अलावा भी हस्तमैथुन से शरीर को कई तरह के फायदे होते हैं। इससे कई तरह के हार्मोन्स शरीर में रिलीज़ होते हैं जिनकी आवश्यकता स्वस्थ शरीर के लिए होती है।

हस्तमैथुन के नुकसान – Hastmaithun ke nuksan

विज्ञानं के मुताबिक हस्तमैथुन (Hastmaithun) करना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। इसके आजतक किसी तरह के नुकसान नहीं देखे गए हैं। बल्कि इसे स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए आवश्यक बताया गया है। हस्तमैथुन को लेकर समाज में कई तरह की अफवाहें और मिथक बातें फैलाई गयी हैं। जिनसे विज्ञान एक-एक करके पर्दा उठाते जा रहे हैं। हालाँकि हस्तमैथुन का सिर्फ एक ही नुकसान बताया गया है –

  • हस्तमैथुन की लत पड़ना।

हस्तमैथुन की लत पड़ना एक नुक्सान बताया गया है क्यूंकि इससे आप जीवन में बाकि चीज़ों से दूर हो जाते हैं जैसे, दोस्तों या परिवार के साथ समय बायतीत न करना, स्कूल में लापरवाही, काम समय पर न करना इत्यादि। कुछ लोग हस्तमैथुन के आदि हो जाते हैं तो उनको इसे थोड़ा कम करने की आवश्यकता है जिससे उनसे सम्बंधित रिश्ते हमेशा बने रहें।

हस्तमैथुन से जुड़े कुछ मिथक (Hastmaithun ke labh hani)

भारत देश में सेक्स को हमेशा गलत नज़रों से देखा गया है। इसका कारण सिर्फ अज्ञानता ही है। इस देश के लोगों ने इससे सम्बंधित कई गलत अवधारणाएं बनायीं हुई है जिनसे युवा पीढ़ी प्रवाभित होती है। इन्ही चीज़ों को देखते हुए आज की युवा पीढ़ी सेक्स इत्यादि के बारे में जागरूक हो रही है। इससे कई सारे मिथक और गलत अवधारणाएं सामने आ रही हैं। हस्तमैथुन और सेक्स स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। यह प्राकृतिक है।

  • हस्तमैथुन आपको अंधा बना देता है – यह सिर्फ एक मिथक है।
  • यह आपको स्तंभन दोष से पीड़ित कर सकता है – यह सिर्फ एक मिथक है।
  • हस्तमैथुन कोई दीर्घकालिक स्वास्थ्य लाभ प्रदान नहीं करता है – हस्तमैथुन के कई सारे स्वास्थ्य लाभ हैं।
  • बच्चे हस्तमैथुन न करें – यह नार्मल है।
  • आप कितना हस्तमैथुन कर सकते हैं इसकी कोई सीमा नहीं है – जी हाँ यह बिलकुल सही है। लेकिन ध्यान रहे इससे आपके जीवन में कोई गलत प्रभाव न पड़े।
  • रिश्तों में लोग हस्तमैथुन नहीं करते – बहुत सारे लोग करते हैं।
  • महिलाएं हस्तमैथुन नहीं करती हैं – महिलायें भी पुरुषों की तरह हस्तमैथुन करती हैं।
  • कम उम्र में हस्तमैथुन करने से यौन व्यवहार विकृत हो सकता है – यह सिर्फ एक मिथक है।
  • हस्तमैथुन बांझपन का कारण बनता है – यह एक मिथक है।
  • हस्तमैथुन जननांगों को नुकसान पहुंचा सकता है – यह सिर्फ एक मिथक है।
  • इसके अलावा भी सेक्स और हस्तमैथुन के कई तरह के मिथक आपको देखने को मिल जायेंगे।

हस्तमैथुन छोड़ने के उपाय (Hastmaithun kaise roke)

वैसे तो हस्तमैथुन (Hastmaithun) करना किसी तरह से हानिकारक नहीं है लेकिन फिर भी कुछ लोग इसकी लत से परेशान हो चुके हैं। वह इसको छोड़ना चाहते हैं लेकिन उन्हें कोई रास्ता नज़र ही नहीं आता है। हस्तमैथुन बिलकुल प्राकृतिक है जिसके किसी तरफ से कोई नुक्सान नहीं हैं। लेकिन जो लोग इसे छोड़ना चाहते हैं उन्हें अपनी लाइफ में कुछ बदलाव करने होंगे।

  • रोजाना व्यायाम करना शुरू करें।
  • दोस्तों के साथ समय बिताना शुरू करें।
  • जीवन का कोई लक्ष्य बनायें।
  • डॉक्टर से इस बारे में सलाह करें।

हस्तमैथुन से जुड़े कुछ प्रश्न और उत्तर – Hastmaithun ke labh hani FAQs

हस्तमैथुन और सेक्स से सम्बंधित कई तरह के मिथक और प्रश्न लोगों के मस्तिष्क में लगातार चलते रहते हैं। जिनके उत्तर आपको इस आर्टिकल में दिए गए हैं। आप इसके माध्यम से अपने प्रश्नों के उत्तर जान सकते हैं और मिथकों को जानकर आपके लिए क्या जरुरी है यह निश्चित कर सकते हैं।

क्या हस्तमैथुन (Hastmaithun) करने से यौन उत्तेजना कम होती है?

नहीं, हस्तमैथुन सेक्सुअलट तनाव को दूर करने का एक स्वस्थ और प्राकृतिक तरीका है। इससे यौन उत्तेजना को बढ़ाया जा सकता है। हस्तमैथुन करने से महिलाओं में सेक्स के दौरान योनि में चिकनेपन की वृद्धि होती है। जो बेहतर सेक्स के लिए उपयोगी होती है।

हस्तमैथुन करने के बाद कमजोरी क्यों महसूस होने लगती है?

हस्तमैथुन करने के बाद किसी तरह की कोई कमजोरी नहीं आती है। यह एक मिथक है। हस्तमैथुन करने के बाद कुछ होर्मोनेस शरीर में रिलीज़ होते हैं जिससे शरीर आराम की अवस्था में चला जाता है और बेहतर नींद आती है।

क्या हस्तमैथुन करने से मांसपेशियां कमजोर होती हैं?

नहीं, यह सिर्फ एक मिथक है। हस्तमैथुन करने से मांसपेशियां कमजोर होती हैं ऐसा अभी तक किसी भी खोज में नहीं पाया गया है।

हस्तमैथुन करने से जो वीर्यपात होता है उसे बनने में 2 से 3 दिन लगते हैं?

वीर्य हमारे शरीर में लगातार बनता रहता है। ऐसा बिलकुल भी नहीं है कि यह ख़तम हो जायेगा इत्यादि। वीर्य शरीर मेंप्रकृतिक रूप से बनता रहता है।

क्या हस्तमैथुन करने से शरीर को नुक्सान होता है?

नहीं, हस्तमैथुन सेक्सुअल जरुरत पूरी करने का एक सवस्थ तरीका है। इससे शरीर को किसी तरह का कोई नुक्सान नहीं होता है। हस्तमैथुन और सेक्स करने से शरीर को बहुत सारे लाभ मिलते हैं। अगर आपको हस्तमैथुन की लत लग गयी है जिसे आप दिन में कई बार करते हैं तो इससे आपको बचने की आवश्यकता है।

You may also like

Leave a Comment

हमारे बारे में

Foggfitness भारत में स्थित एक ऑनलाइन वेबसाइट है जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है। इसके साथ ही हमारा मकसद लोगों को फिटनेस के प्रति भी जागरूक करना है। इस वेबसाइट में हर दिन कई ब्लॉग लिखे जाते हैं, जिसमें लोगों को हर जानकारी दी जाती है।

नवीनतम लेख

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More