Home दवाइयां एप्टोइन टैबलेट 300 ER की जानकारी, लाभ, साइड इफेक्ट्स और इस्तेमाल करने का तरीका

एप्टोइन टैबलेट 300 ER की जानकारी, लाभ, साइड इफेक्ट्स और इस्तेमाल करने का तरीका

by Foggfitness

Table of Contents

एप्टोइन टैबलेट 300 ER की जानकारी, लाभ, साइड इफेक्ट्स और इस्तेमाल करने का तरीका – Eptoin 300 ER uses in hindi

Eptoin 300 ER uses: एप्टोइन टैबलेट दौरों को नियंत्रित करने वाली दवा है जो मरीज को दौरे पड़ने पर दी जाती है ताकि उन्हें नियंत्रित किया जा सके। यह दवाई दिमाग की असामान्य एक्टिविटी को कण्ट्रोल करके व्यक्ति को ठीक रखती है। साधारण तौर पर यह दवाई आपको किसी भी केमिस्ट की दूकान पर मिल जाएगी लेकिन ज्यादातर केमिस्ट आपको यह दवाई डॉक्टर के द्वारा लिखी गयी पर्ची पर ही उपलब्ध करवाते हैं। यह कोई आम दवाई नहीं हैं क्योंकि यह सीधा मरीज के दिमाग पर काम करती है इसलिए कुछ केमिस्ट आपको यह दवाई ऐसे ही नहीं देते हैं।

इस दवाई का इस्तेमाल अन्य दवाइयों के साथ भी किया जाता है और डॉक्टर भी खुद इसकी सलाह देते हैं। लेकिन आपको इस दवाई का कितना इस्तेमाल करना चाहिए यह डॉक्टर आपकी बीमारी को देखकर ही तय करते हैं। डॉक्टर इस दवाई को मरीज को देने से पहले लिंग, उम्र और वजन को ध्यान में रखते हुए इस दवाई की लिमिट को तय करते हैं। जिससे मरीज को इस दवाई के नुक्सान न हों क्योंकि यह दिमाग पर काम करती है। हम आपको इस दवाई को लेने के लाभ और इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स या नुक्सान के बारे में बताएँगे।

एप्टोइन टैबलेट का निम्नलिखित बिमारियों में लाभ – Eptoin 300 ER uses benefits in the following conditions

  • मिर्गी आना।
  • दौरे पड़ना।

एप्टोइन टेबलेट एक ऐसी दवाई है जो दिमाग पर काम करती है और दिमाग की नसों को सक्रिय करने में मदद करती है। जिन व्यक्तियों को मिर्गी की समस्या हो या बार-बार दौरे आते हों तो उन मरीजों के लिए यह दवाई कारगर साबित हो सकती है। इस दवाई को डॉक्टर की सलाह से आप नियमित रूप से इस्तेमाल कर सकते हैं और इसके बेहतर परिणामों का लाभ उठा सकते हैं। इस दवाई का इस्तेमाल प्रेगनेंट महिलाओं के लिए गंभीर साबित हो सकता है। इसलिए आपको इस दवाई को लेने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य बात कर लेनी चाहिए।

एप्टोइन टैबलेट से होने वाले साइड इफेक्ट्स – Eptoin tablets uses side effects

हर प्रकार की दवाइयों के कुछ न कुछ साइड इफेक्ट्स या नुक्सान देखने को मिलते हैं। ठीक इसी तरह इस दवाई के भी कुछ साइड इफेक्ट्स आपको देखने को मिल सकते हैं। बहुत सारे साइड इफेक्ट्स कुछ इस तरह के होते हैं जिनमे डॉक्टर की सलाह आवश्यक नहीं होती है। लेकिन कुछ ऐसे भी नुक्सान होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए गंभीर साबित हो सकते हैं। इसीलिए अगर आपको किसी भी तरह के साइड इफेक्ट्स नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें और सलाह लें। ज्यादातर इस दवाई के हमें जो साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं वो कुछ इस तरह से हैं:-

  • सिरदर्द होना
  • उलटी आना
  • चक्कर आना
  • कब्ज होना
  • घबराहट होना
  • मतली या उल्टी
  • कंपकंपी उठना
  • जलन उठना
  • थकावट महसूस होना
  • अस्थिरता इत्यादि।

एप्टोइन टैबलेट को इस्तेमाल करने का तरीका – How to use Eptoin 300 ER

जैसा कि हमने आपको बताया है यह दवाई डॉक्टर के द्वारा पर्ची पर लिखने से ही मिलती है। इसलिए जब भी डॉक्टर आपको इस दवाई को लेने की सलाह देंगे तो वो आपकी उम्र, लिंग और वजन को ध्यान में रखते हुए इस टेबलेट को लेने का तरीका भी बताएँगे। दवाई को लेते वक़्त उसपर लिखी हुई तिथियों को अच्छी तरह से देख लें और फिर खरीदें। कई बार कुछ केमिस्ट दवाइयों को बेचने के लिए आपको गलत दवाई या दवाई के समाप्त हुई तिथि की दवाई भी दे देते हैं। जिनसे आपको हमेशा बचना चाहिए। जब भी आप किसी केमिस्ट से कोई भी दवाई लें तो एक बार डॉक्टर को जरूर दिखा लें।

एप्टोइन टैबलेट से सम्बंधित पूछे जाने वाले प्रश्न – Eptoin tablet FAQs

1. क्या एप्टोइन टैबलेट का इस्तेमाल गर्वभती महिलाएं कर सकती हैं?

एप्टोइन टैबलेट का इस्तेमाल गर्वभती महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है लेकिन फिर भी आप डॉक्टर की सलाह से इस दवाई का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको गर्वावस्था के दौरान इस दवाई का इस्तेमाल करने से पहले इसके नकारात्मक प्रभाव और साइड इफेक्ट्स के बारे में जान लेना आवश्यक है। उसके बाद ही इस दवाई का इस्तेमाल आप कर सकते हैं। एप्टोइन टैबलेट 300 ER गर्वावस्था के दौरान असुरक्षित हो सकती है क्योंकि इससे बच्चे को खतरा होने के आसार बने रहते हैं।

2. क्या एप्टोइन टैबलेट का इस्तेमाल स्तनपान करवाने वाली महिलाएं कर सकती हैं?

एप्टोइन टेबलेट का इस्तेमाल स्तनपान वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित माना जाता है। लेकिन कई बार इसके कुछ विपरीत परिणाम देखने को मिल जाते हैं। अगर कभी भी आपको कोई साइड इफेक्ट्स नजर आएं तो आप दवा का इस्तेमाल बंद कर दें। वैसे तो अध्ययन के मुताबिक दवा ज्यादा स्तनों में नहीं जाती है जिससे बच्चे के लिए हानिकारक नहीं है। लेकिन अगर आप डॉक्टर की परामर्श के अनुसार इस दवाई का सेवन करते हैं तो आपके और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए सही रहेगा।

3. एप्टोइन टेबलेट का किडनी पर क्या प्रभाव पड़ता है?

किडनी की बीमारी वाले व्यक्ति को एप्टोइन 300 ER का इस्तेमाल बहुत ही सजगता और सावधानीपूर्वक करना चाहिए। वैसे तो इस दवाई के हानिकारक प्रभाव किडनी के लिए बहुत ही कम हैं लेकिन फिर भी आपको डॉक्टर से सलाह जरूर करनी चाहिए।

4. एप्टोइन टेबलेट का लीवर पर क्या प्रभाव पड़ता है?

लीवर की बीमारी वाले व्यक्ति को एप्टोइन 300 ER का इस्तेमाल बहुत ही सजगता और सावधानीपूर्वक करना चाहिए। वैसे तो इस दवाई के हानिकारक प्रभाव लीवर के लिए बहुत ही कम हैं लेकिन फिर भी आपको डॉक्टर से सलाह जरूर करनी चाहिए।

5. एप्टोइन टेबलेट का ह्रदय पर क्या प्रभाव पड़ता है?

ह्रदय की बीमारी वाले व्यक्ति को एप्टोइन 300 ER का इस्तेमाल बहुत ही सजगता और सावधानीपूर्वक करना चाहिए। वैसे तो इस दवाई के हानिकारक प्रभाव ह्रदय के लिए बहुत ही कम हैं लेकिन फिर भी आपको डॉक्टर से सलाह जरूर करनी चाहिए।

6. एप्टोइन टेबलेट का शराब पीने वाले व्यक्ति पर क्या प्रभाव पड़ता है?

शराब तो वैसे ही स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है। इसके साथ-साथ इस दवाई के भी कुछ दुष्प्रभाव हैं। इसलिए यह शराब पीने वाले व्यक्ति पर गंभीर प्रभाव डाल सकती है। आपको इन गंभीर प्रभावों से बचने की जरुरत होगी जिसके लिए आपको डॉक्टर से बातचीत करनी चाहिए।

7. जब हम ड्राइविंग कर रहे हों तो एप्टोइन टेबलेट का इस्तेमाल कर सकते हैं?

आपको ड्राइविंग के दौरान एप्टोइन टेबलेट का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि इस दवाई को लेने के पश्चात आपको नींद आने लगेगी, जो कि ड्राइविंग के दौरान खतरनाक हो सकता है। इसलिए आपको ड्राइव करते वक़्त एप्टोइन का सेवन नहीं करना चाहिए।

You may also like

Leave a Comment