संतुलित आहार क्या है? संतुलित आहार हमारे लिए क्यों जरूरी है?

 संतुलित आहार क्या है? संतुलित आहार हमारे लिए क्यों जरूरी है?
Spread the love

संतुलित आहार क्या है? संतुलित आहार हमारे लिए क्यों जरूरी है? | What is a balanced diet? Why Balanced diet important for us?

(Balanced diet) संतुलित आहार क्या है? संतुलित आहार हमारे लिए क्यों जरूरी है? यह विषय हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरुरी है और हम सबको आजकल के लाइफस्टाइल को देखते हुए इस विषय पर ध्यान अवश्य देना चाहिए। संतुलित आहार से हम अपने शरीर को सवस्थ रख सकते हैं और बिमारियों से कोसो दूर रह सकते हैं। इस विषय में हम आपको डाइट के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने की कोशिश करेंगे। इसलिए आपको इस विषय को बहुत ही ध्यानपूर्वक पढ़ना चाहिए।

संतुलित आहार क्या है ? – Balanced diet in hindi

जिस भोजन में सभी प्रकार के आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं उसे संतुलित आहार कहा जाता है। संतुलित आहार से शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषण मिलता है और स्वास्थ्य में भी सुधार आने लगता है। संतुलित आहार लेने से बिमारियों से लड़ने के लिए शरीर को ताकत मिलती है। संतुलित आहार लेने से स्वास्थ्य में कई तरह के सुधार होने लगते हैं और मोटापा भी कम होता है। जो लोग कुपोषण का शिकार होए हैं या बीमारियां ज्यादा घेरने लगती हैं तो उन लोगों को रोजाना संतुलित आहार को महत्त्व देना चाहिए। बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि हमें किस प्रकार का भोजन लेना चाहिए जिससे शरीर को सभी प्रकार के पोषक तत्व मिलते रहें।

हमारे शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व प्रोटीन, कार्बोहइड्रेट, वसा, विटामिन और मिनरल होते हैं। लेकिन इनको लेने की भी एक मात्रा निर्धारित की जाती है तभी यह भोजन संतुलित कहलाता है। आपको रोजाना इन पोषक तत्वों को ध्यान में रखते हुए अपने आहार में शामिल करना चाहिए जिससे भोजन संतुलित हो सके।

प्रोटीन :- दाल, दूध, दहीं, सोयाबीन, मूंगफली, मांस और मछली इत्यादि।

कार्बोहइड्रेट :- साबुत अनाज, आटे से बनी हुई चीज़ें, आते वाले ब्रेड इत्यादि।

वसा :- इसमें तरल पदार्थ जैसे तेल, बटर और मलाई इत्यादि शामिल होते हैं। लेकिन आपको वसा का इस्तेमाल कम मात्रा में करना चाहिए।

विटामिन :- इसमें फल और सब्जियां इत्यादि शामिल होती हैं क्यूंकि इनमे भरपूर मात्रा में विटामिन और फाइबर पाए जाते हैं।

मिनरल :- पानी और नारियल पानी इसका सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। इसलिए आपको अपने शरीर में पानी की मात्रा को भी ध्यान में रखना चाहिए।

संतुलित आहार की जरुरत और फायदे – Importance and benefits of balanced diet in hindi

१. ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है-

संतुलित आहार हमारे शरीर की ऊर्जा को बढ़ाता है। हमारे शरीर को मिलने वाली यह ऊर्जा संतुलित आहार के लाभों में से एक है। शरीर को आवश्यक पोषक तत्व को ईंधन के रूप में इस्तेमाल करने के लिए देते रहने से शारीरिक ऊर्जा को प्राप्त किया जा सकता है। जिससे हम दिनभर ऊर्जा से भरपूर रहते हैं। ऐसे भोजन का नियमित सेवन करने से शरीर में इन्सुलिन का स्तर बना रहता है और कई तरह की बिमारियों से शरीर की रक्षा करता है।

२. वज़न को नियंत्रित करता हैं –

इस प्रकार के भोजन को करने से वजन को नियंत्रण में रखा जा सकता है। शरीर को अगर पोषक तत्वों से भरपूर रखा जाये तो यह आपके शरीर को हमेशा सवस्थ रखेगा। अगर आपका वजन नियंत्रण में नहीं है तो यह आपके लिए समस्या बन सकता है क्योंकि मोटापा बिमारियों का घर माना जाता है। इसलिए संतुलित भोजन को करने की सलाह दी जाती है।

३. इम्युनिटी को मजबूत बनाता है –

संतुलित आहार का सेवन करने से शरीर में इम्युनिटी को बढ़ाया जा सकता है। इसको शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली भी कहा जाता है। बिमारियों से लड़ने के लिए शरीर में इम्युनिटी का अच्छा होना बहुत आवश्यक होता है। लेकिन यह पोषक तत्वों को नियमित लेने से ही प्राप्त की जा सकती है।

4. स्वास्थ्य और खुशहाल जीवन के लिए लाभदायक –

यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है। एक खुशहाल जीवनशैली को अपनाने के लिए संतुलित भोजन का होना आवशयक होता है। आहार में मौजूद पोषक तत्व प्रतिरक्षा को बढ़ावा देते हैं और शरीर को स्वस्थ बनाते हैं। इससे बहुत सारी गंभीर बिमारियों से बचा जा सकता है। इस प्रकार संतुलित आहार हमारे शरीर और स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है।

5. मानसिक तनाव को दूर करता है –

हमारे पूरे शरीर का संचालक हमारा मस्तिष्क होता है। इसलिए इसका स्वस्थ रहना बहुत ही आवश्यक होता है। अगर यह तनाव से भरा हुआ रहेगा तो आपका जीवन दुखों से भरा रहेगा। जीवन को खुशहाल बनाने के लिए मस्तिष्क का तनाव मुक्त होना बहुत जरुरी होता है। जब आप संतुलित भोजन का नियमित सेवन करते हैं तो मस्तिष्क में अच्छी ऊर्जा का निर्माण होता है जिससे दिमाग तनाव से मुक्त हो जाता है।

6. शरीर को रोगमुक्त बनाता है –

खुशहाल जीवन जीने के लिए शरीर को रोगमुक्त होना बहुत जरुरी होता है। अगर शरीर में कई तरह के रोग लगे रहें तो ज़िन्दगी जीना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। अगर आप रोजाना संतुलित भोजन का सेवन करें तो शरीर से कुछ ही दिनों में सभी रोग समाप्त हो जायेंगे और जीवन खुशाल बनेगा।

7. सौंदर्यता –

संतुलित भोजन को रोजाना लेने से शरीर सौंदर्यवान बनता है, चेहरा खिलने लगता है और चेहरे से झुर्रियां गायब होने लगती हैं। हमारे शरीर में जो भी बदलाव होते हैं उसका कारण हमारा खानपीन ही होता है। अच्छा खानपीन शरीर को सुन्दर बनाता है और खराब खाना या असंतुलित भोजन शरीर को कुरूप बना देता है। इसलिए सौंदर्यवान बनने के लिए रोजाना संतुलित भोजन का ही इस्तेमाल करें।

8. हड्डियों का विकास –

हड्डियों का विकास पूर्ण रूप से न होने से शरीर बोना ही रह जाता है। बहुत सारे लोगों की लम्बाई छोटी ही रह जाती है जिसका मुख्य कारण असंतुलित भोजन ही होता है। यह समस्या आजकल बहुत ज्यादा देखने को मिलती है क्योंकि लोग असंतुलित भोजन की तरफ आकर्षित होते जा रहे हैं जिसके कारण शरीर का विकास अच्छे से नहीं हो पाता है। इसलिए बच्चों को ज्यादातर संतुलित भोजन की तरफ ही आकर्षित करना चाहिए ताकि शरीर और हड्डियों का विकास अच्छे से हो सके।

संतुलित भोजन के मुख्य घटक – Components of balanced diet in hindi

प्रोटीन – प्रोटीन शरीर और स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। यह शरीर की मांसपेशियों के निर्माण लिए बहुत उपयोगी होता है। शरीर में रोजाना कई मांसपेशियों का निर्माण होता है जिसके लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है। प्रोटीन के कई तरह के स्रोत पाए जाते हैं। माँसाहारी व्यक्तियों के लिए प्रोटीन के बहुत सारे स्रोत होते हैं लेकिन शाकाहारी व्यक्तियों के लिए प्रोटीन के बहुत कम स्रोत पाए जाते हैं।

कार्बोहइड्रेट – यह शरीर में ऊर्जा का निर्माण करता है और शरीर में ईंधन के रूप में कार्य करता है। इसलिए शरीर को कार्बोहइड्रेट की भी आवश्यकता होती है। इसके कई तरह के स्रोत पाए जाते हैं लेकिन इनमे कुछ खराब कार्बोहइड्रेट भी शामिल होते हैं जिनसे हमें बचना चाहिए। खराब कार्बोहइड्रेट में मैदे से बानी हुई चीज़ें और चीनी इत्यादि शामिल होते हैं जिनसे बचने की आवश्यकता होती है। संतुलित भोजन में रेशेदार कार्बोहइड्रेट और आटे से बनी हुई चीज़ें ही शामिल की जाती हैं।

वसा – इसमें तरल पदार्थ जैसे तेल इत्यादि शामिल किये जाते हैं। शरीर को तरल पदार्थों की भी आवश्यकता होती है क्योंकि इससे हमारी रक्त वाहिकाएं मुलायम बनी रहती हैं। जिससे रक्त का परवाह बिना किसी रूकावट के चलता रहे। लेकिन इसका हमें कम मात्रा में ही इस्तेमाल करना चाहिए अन्यथा यह स्वास्थ्य के लिए गंभीर समस्याएं उत्पन्न कर सकता है।

विटामिन और मिनरल्स – शरीर को सवस्थ रहने के लिए विटामिन और मिनरल्स की भी आवश्यकता होती है क्योंकि इससे हमारे मस्तिष्क और शरीर को बिमारियों से लड़ने के लिए शक्ति प्रदान होती है। जब तक शरीर में बिमारियों से लड़ने के लिए पर्याप्त क्षमता नहीं होगी तब तक आप सवस्थ नहीं रह पाएंगे। आजकल की दिनचर्या में शरीर में कई बिमारियों का निर्माण होता है और अगर आपके शरीर में पहले से ही बिमारियों से लड़ने के लिए शक्ति है तो आप हमेशा स्वस्थ रह सकेंगे। विटामिन और मिनरल्स सब्जियों और फलों में पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है इसलिए हमें संतुलित आहार में इनको भी शामिल करना चाहिए। इसके साथ-साथ पानी का विशेष ध्यान रखें क्योंकि संतुलित आहार इसके बिना सम्पूर्ण नहीं होता है। मनुष्य शरीर को स्वस्थ रहने के लिए 70% पानी की आवश्यकता होती है और कई सारी बीमारियां पानी के द्वारा शरीर से बाहर निकल जाती हैं। इसलिए एक दिन में लगभग 4 से 5 लीटर पानी अवश्य पीना चाहिए।

संतुलित आहार न लेने से होने वाले नुक्सान – Disadvantages of not eating balanced diet in hindi

  1. संतुलित आहार का सेवन नहीं करने से आपकी उम्र तेजी से ढलने लगती है और आप समय से पहले बुढ़ापे का शिकार होने लगते हैं।
  2. रोजाना संतुलित आहार का सेवन नहीं करने से हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और उठने-बैठने तथा चलने-फिरने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है।
  3. त्वचा का रंग फीका पड़ने लगता है और फुंसियों तथा झाइयों से त्वचा भर जाती है।
  4. शरीर का आकार भी बिगड़ने लगता है और बीमारियां शरीर को घेरने लगती हैं।
  5. मानसिक कमजोरी का कारण भी यही होता है कि हम संतुलित भोजन का सेवन नहीं करते हैं।
  6. स्वस्थ खुशहाल जीवन जीने के लिए शरीर का रोगमुक्त होना बहुत आवश्यक होता है लेकिन अगर संतुलित भोजन का सेवन नहीं किया जाये तो शरीर कई प्रकार के रोगों से घिर जाता है और जीवन को नरक के समान बना देता है।
  7. इनके अलावा भी कई सारे ऐसे नुक्सान हैं जो हमारे शरीर को झेलने पड़ते हैं अगर हम संतुलित आहार का सेवन नहीं करते हैं।

निष्कर्ष – Conclusion of balanced diet in hindi

इन सभी बातों से यही निष्कर्ष निकलता है कि हमें अपने जीवन को सुखी, तंदरुस्त, रोगमुक्त इत्यादि बनाने के लिए संतुलित आहार को अपने जीवन में शामिल करना चाहिए। इसका सेवन नहीं करने से हमें बहुत सारे नुकसानों का सामना करना पड़ जाता है। लेकिन रोजाना संतुलित आहार लेने से हम अपने जीवन को खुशियों से भर देते हैं और स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सचेत रहते हैं। इसलिए संतुलित आहार का सेवन हमारे लिए बहुत जरुरी होता है।


Spread the love

1 Comments

  • Wiith havin so much written content do you ever run into any issues of plagoriszm or
    copyright violation? My website has a lot off unique content I’ve
    either created myself or outsopurced but itt appears a lot of it is popping it up aall over the web without my permission. Do you know any techniques too help reduce content from
    being ripped off? I’d definitely appreciate it.

    คลับคาสิโน homepage เล่นการพนันฟรีและไม่ต้องลงทะเบียน

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *