Home स्वास्थ्य और फिटनेस फिटनेस क्या है और फिटनेस के 5 मुख्य घटक कौन-कौन से हैं?

फिटनेस क्या है और फिटनेस के 5 मुख्य घटक कौन-कौन से हैं?

by Foggfitness

फिटनेस क्या है और फिटनेस के 5 मुख्य घटक कौन-कौन से हैं? शारीरिक फिटनेस क्यों जरूरी है? 5 components of fitness?


फिटनेस क्या है और फिटनेस के 5 मुख्य घटक कौन-कौन से हैं (5 components of fitness): हम में से कई लोग यह नहीं समझते हैं कि फिटनेस क्या है, और प्रत्येक व्यक्ति इसे अपने तरीके से परिभाषित करता है। फिटनेस पेशेवरों को यह समझने की ज़रूरत है कि फिटनेस किसी भी एक चीज़ तक सीमित नहीं है, बल्कि इसके 5 पहलू हैं। इन पहलुओं में पूरी तरह से सुधार आने के बाद ही इन पहलुओं को पहले की तुलना में अधिक स्वस्थ माना जा सकता है।

फिटनेस प्रोफेशनलों को यह समझने की आवश्यकता है कि उनके पास चाहे किसी भी श्रेणी के लोग (हाउस वाइफ, एक्टर, बिज़नेस एक्ज़ीक्यूटिव, स्पोर्ट्समैन, किशोर, वृद्ध, बूढ़े आदि) आएँ, उनके फिटनेस के कार्यक्रम की परवाह किए बिना, उनके फिटनेस प्रोग्राम में फिटनेस के सभी 5 पहलुओं का होना बहुत आवश्यक है। उनको पहले से अधिक स्वस्थ करने के लिए फिटनेस के सभी पहलु समूह में शामिल होने चाहिए।

चूंकि शरीर विज्ञान के अनुसार सभी मनुष्यों के पास एक समान शारीरिक गठन है, इसलिए ऐसा कोई भी वर्ग नहीं है जिनके लिए फिटनेस के सभी पांच पहलू आवश्यक नहीं हैं। उपर्युक्त सभी वर्गों के लोगों के लिए यह एक समान फिटनेस लक्ष्य होना चाहिए, कि फिटनेस के प्रत्येक 5 पहलुओं में सुधार किया जाना चाहिए ताकि सभी के जीवन में सुधार हो।

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि अंगों को कमजोर होने का कारण बुढ़ापा है जिसके कारण व्यक्ति का प्रदर्शन पूरी तरह से फिटनेस के पांच पहलुओं के बराबर नहीं रहता है। इसलिए वयस्कता से बचने के लिए एकमात्र यही तरीका है कि फिटनेस के सभी पहलुओं को समान महत्व दिया जाए । किसी भी खेल (मैराथन, रनिंग, पावर लिफ्टिंग, जिम्नास्टिक, मुक्केबाजी, स्प्रिंटिंग, फुटबॉल, क्रिकेट, टेनिस, आदि) से संबंधित खिलाड़ी अपने खेल में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए अपने कंडीशनिंग व्यायाम में फिटनेस के सभी 5 पहलुओं को शामिल करना चाहिए।

व्यायाम-विशिष्ट (योग, पिलेट्स, स्विस चाइल्ड कोर ट्रेनिंग, वेट ट्रेनिंग, स्पिनिंग, डांस एरोबिक्स आदि) में विशेषज्ञता प्राप्त करने वाले फिटनेस प्रोफेशनलों को भारी गलती से बचना चाहिए। वे यह मानने की गलती करते हैं कि उन्हें जिस व्यायाम में विशेषज्ञता प्राप्त है , केवल वही सामान्य फिटनेस प्राप्त करने के लिए आवश्यक है। जबकि उन्हें व्यायाम की विशेषता को समझना चाहिए। फिटनेस के प्रत्येक पहलू के लिए एक अलग व्यायाम होता है। सामान्य फिटनेस को बेहतर बनाने के लिए, पूर्ण व्यायाम कार्यक्रम के दौरान इन पहलुओं को शामिल करना आवश्यक है।

फिटनेस के 5 घटक: 5 components of fitness

फिटनेस के 5 मुख्य घटक हैं जो कि वास्तविक फिटनेस हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण हैं।

  1. कार्डियोवैस्क्युलर एन्ड्यूरन्स (ह्रदय एवं रक्तवाहिनियों की सहनक्षमता)
  2. मस्क्युलर एन्ड्यूरन्स (मांसपेशियों की सहनक्षमता)
  3. मस्क्युलोस्केलेटल स्ट्रेंथ (मांसपेशियों और कंकाल की शक्ति)
  4. फ्लेक्सिबिलिटी (लचक)
  5. आइडियल बॉडी कम्पोज़िशन (आदर्श शारीरिक रचना)

१. कार्डियोवैस्क्युलर एन्ड्यूरन्स (ह्रदय एवं रक्तवाहिनियों की सहनक्षमता)

ऑक्सीजन युक्त रक्त को बिना थके लम्बी अवधि तक कंकालीय मांसपेशियों तक पहुँचाने की कार्डियोवैस्क्युलर सिस्टम व रेस्पिरेटरी सिस्टम की क्षमता को बढ़ाना।

२. मस्क्युलर एन्ड्यूरन्स (मांसपेशियों की सहनक्षमता)

लम्बी अवधि तक बिना थके लगातार उप-अधिकतम स्तरों पर संकुचित होने की स्केलेटल मसल या मांसपेशियों के समूह की क्षमता को बढ़ाना।

३. मस्क्युलोस्केलेटल स्ट्रेंथ (मांसपेशियों और कंकाल की शक्ति)

कंकाल के साथ जुड़ी हुई मांसपेशियों की ताकत या शक्ति को बढ़ाना जिससे शरीर में अधिक से अधिक बल उत्पन्न हो सके।

४. फ्लेक्सिबिलिटी (लचक)

यह ज्वाइंटो या जोड़ों के आसपास पूरी और हर तरह की गति करने की शारीरिक क्षमता होती है। यह क्षमता कंकाल के साथ जुड़ी हुई मांसपेशियों का लचीलापन को खोने से बचाकर रखती है।

५. आइडियल बॉडी कम्पोज़िशन (आदर्श शारीरिक रचना)

यह व्यक्ति द्वारा चर्बीयुक्त तंतु और लीन बॉडी मास के आदर्श अनुपात को बनाये रखने की क्षमता होती है। पुरुष को आइडियल बॉडी कम्पोजीशन वाला व्यक्ति उस स्थिति में कहा जाता है जब उसके पूरे वजन में चर्बीयुक्त तंतु का योगदान 15% से अधिक नहीं हो। महिलाओं को आइडियल बॉडी कम्पोजीशन वाला व्यक्ति उस स्थिति में कहा जाता है जब उसके पूरे वजन में चर्बीयुक्त तंतु का योगदान 20% से अधिक नहीं हो।

You may also like

Leave a Comment